एक ब्लॉग सबका में आप सभी का हार्दिक सुवागत है!

आप भी इसमें शामिल हो सकते हैं!

यह ब्लॉग समर्पित है "सभी ब्लोग्गर मित्रो को"इस ब्लॉग में आपका स्वागत है और साथ ही इस ब्लॉग में दुसरे रचनाकारों के ब्लॉग से भी रचनाएँ उनकी अनुमति से लेकर यहाँ प्रकाशित की जाएँगी! और मैने सभी ब्लॉगों को एकीकृत करने का ऐसा विचार किया है ताकि आप सभी ब्लोग्गर मित्रो खोजने में सुविधा हो सके!

आप भी इसमें शामिल हो सकते हैं

तो फिर तैयार हो जाईये!

"हमारे किसी भी ब्लॉग पर आपका हमेशा स्वागत है!"



यहाँ प्रतिदिन पधारे

  • आज का सुविचार - ********आज का सुविचार ******** " दरिया ने झरने से पूछा की तुझे समुन्दर नहीं बनना क्या...? झरने ने बड़ी नम्रता से कहा, बड़ा बनकर ...
    5 दिन पहले

शनिवार, 10 मार्च 2012

काजल की रेख

आकर्षण

काजल की रेख कहीं
अंदर तक पैठ गई
तमस की आकृतियाँ
अंतर की सुरत हुईं

मन को झकझोर दिया
गहरी सी सांसों ने ||

दूर कहाँ रह पाया
आकर्षण विद्युत सा
अंग अंग संग रहा
तमस बहु रंग हुआ

गहरे तक डूब गया
अपनी ही साँसों में ||

चाहा तो दूर रहूँ
शक्त नही मन था
कोमल थे तार बहुत
टूटन का डर था

सोचा संगीत बजे
उच्छल इन साँसों में ||

जो भी जिया था
उस क्षण का सच था
किस ने सोचा ये
आगे का सच क्या

फिर भी वो शेष रहा
जीवन की सांसों में ||

33 टिप्‍पणियां:

  1. उत्तर
    1. bndhur aap kii vaah mere utsah ka smbl hai kripya mera hardik aabhar swikar kr len smvad bna rhe prsnnta hoti hai

      हटाएं
  2. बहुत अच्छी प्रस्तुति!
    इस प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार के चर्चा मंच पर भी होगी!
    सूचनार्थ!

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. bndhuvr aap ka nirntr sneh prapt ho rha hai kripya mera hardik aabhar swikar kr ke anugrhit kren

      हटाएं
  3. उत्तर
    1. aap ka nirntr smvad prapt ho rha hai mn ko prsnnta hoti hai kripya mera hardik aabhar swikae kr len mujhe achchha lgega

      हटाएं
  4. उत्तर
    1. aap ka nirntr smvad mil rha hai bhut 2 hardik aabhari hoon kripya swikar kren
      smvad bna rhe prsnnta hoti hai

      हटाएं
  5. आप मेरे ब्लॉग पे आये बहुत ही अच्छा लगा आपका बहुत बहुत हार्दिक अभिनन्दन है मेरे ब्लॉग पे बस आप असे ही मेरा उत्साह बढ़ाते रहिये
    जिसे मुझे उर्जा मिलती है
    आपका बहुत बहुत धन्यवाद्
    आपका ब्लॉग देखा मैने और नमन है आपको
    और बहुत ही सुन्दर शब्दों से सजाया गया है बस असे ही लिखते रहिये और कुछ अपने विचारो से हमें भी अवगत करवाते रहिये
    होली की हार्दिक सुभकामनाये
    १.बेटी है गर्भ में गिराए क्या ??????
    http://vangaydinesh.blogspot.in/2012/02/blog-post_07.हटमल
    2दो जन्म

    कुछ अनकही बाते ? , व्यंग्य: जब इस्लाम मूर्ति पूजा के विरुद्ध है तो मुसलमान काब..
    http://vangaydinesh.blogspot.in/2012/02/blog-post_27.html

    उत्तर देंहटाएं
  6. उत्तर
    1. ruchi ji kripya mera hardik aabhar swikar kren
      nivedn hai ydi smbhv ho ske to yhin pr meri ek rchna stri v doosri maiun bhi dekhne ka ksht kren
      aabhar shit
      dr. ved vyathit
      09868842688

      हटाएं
  7. जो भी जिया था
    उस क्षण का सच था
    किस ने सोचा ये
    आगे का सच क्या

    फिर भी वो शेष रहा
    जीवन की सांसों में ||

    बहुत सही लिखा है आपने

    उत्तर देंहटाएं
  8. bhai swai singh ji is sb ka shrey main aap ko deta hoon
    km logon ne is kii prshnsa ki hai prntu jinhone ki hai ve gunijn hi hain
    prvasi dunoya ke smpadk ji ne mujhe mail kr ke is kii prshnsa ki hai
    main aap ka hardik aabhar vykt krta hoon

    उत्तर देंहटाएं
  9. दूर कहाँ रह पाया
    आकर्षण विद्युत सा
    अंग अंग संग रहा
    तमस बहु रंग हुआ

    गहरे तक डूब गया
    अपनी ही साँसों में ||

    kya likhun .....bs ak hi shabd lajabab

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. bndhu aap apar sneh pa kr prnnta ho rhi hai smvad bna rhe
      kripya mera hardik aabhar swikar krne ka ksht kren

      हटाएं
  10. बढ़िया अभिव्यक्ति
    शुभकामनायें आपको वेद व्यथित जी !

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. bhai stish ji main anubhv krta hoon ki aap ka sneh sda mere sath rhta hai usi se toote foote shbd bn pdte hain yh sb aap ke sneh ka prinam hai
      mera hardik aabhar swikar kren

      हटाएं
  11. गहरे तक डूब गया
    अपनी ही साँसों में ...
    बहुत सुंदर,शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. bndhuvr prsnnta hui aap ka sneh meri rchna ko prapt huaa smvad bna rhe
      kripya hardik aabhar swikar kren

      हटाएं
  12. उत्तर
    1. bndhuvr aap ke ek hi shbd ne aap ka apyar sneh undel diya
      bhut 2 aabhari hoon kripya swikar kren

      हटाएं
  13. उत्तर
    1. aap kii shubhkamnaye to mujhe jb main net pr aya hi tha tbhi ke parmbhik dino se praptb hui hain vhi to mera smbl bna nhi to main is se drta tha aap jaise shridyon ne mujhe aage bdhaya hai
      vshesh roop me aap ka hardik aabhar vykt krta hoon kripya swikar kren

      हटाएं
  14. जो भी जिया था
    उस क्षण का सच था
    किस ने सोचा ये
    आगे का सच क्या ....bahut hi gahan abhwaykti.

    उत्तर देंहटाएं
  15. dr. nisha ji nirntr sneh prapt ho rha hai hridy se aabhari hoon kripya swikar kren

    उत्तर देंहटाएं

एक ब्लॉग सबका में अपने ब्लॉग शामिल करने के लिए आप कमेन्ट के साथ ब्लॉग का यू.आर.एल.{URL} दे सकते !
नोट :- अगर आपका ब्लॉग पहले से ही यहाँ मौजूद है तो दोबारा मुझे अपने ब्लॉग का यू.आर.एल. न भेजें!

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

लिखिए अपनी भाषा में

मेरी ब्लॉग सूची