एक ब्लॉग सबका में आप सभी का हार्दिक सुवागत है!

आप भी इसमें शामिल हो सकते हैं!

यह ब्लॉग समर्पित है "सभी ब्लोग्गर मित्रो को"इस ब्लॉग में आपका स्वागत है और साथ ही इस ब्लॉग में दुसरे रचनाकारों के ब्लॉग से भी रचनाएँ उनकी अनुमति से लेकर यहाँ प्रकाशित की जाएँगी! और मैने सभी ब्लॉगों को एकीकृत करने का ऐसा विचार किया है ताकि आप सभी ब्लोग्गर मित्रो खोजने में सुविधा हो सके!

आप भी इसमें शामिल हो सकते हैं

तो फिर तैयार हो जाईये!

"हमारे किसी भी ब्लॉग पर आपका हमेशा स्वागत है!"



यहाँ प्रतिदिन पधारे

रविवार, 25 मार्च 2012

अभी तो दिन निकला है

अभी तो दिन निकला है
सूरज अठखेली करता है
पता कहाँ चल पाया मुझ को
इतनी जल्दी सांझ हो गई

दिन बीता सपने सा खाली
फिर अंधियारी रात हो गई ||

दीख रहा था अभी सामने
हाथ बढ़ा कर छूना चाहा
पर माया मृग बन कर खुद को
खुद से दूर बहुत ही पाया

कहाँ २ ढूँढा फिर खुद को
सब कोशिश बेकार होगी ||

आखों का विश्वाश अगर मैं
कर भी लूं तो नादानी है
बिना बताये कहाँ उलझ लें
वे पीड़ा से अनजानी हैं

उन का क्या वे उलझ २ कर
मुझ को बेहद पीर दे गईं

27 टिप्‍पणियां:

  1. "अभी तो दिन निकला है
    सूरज अठखेली करता है
    पता कहाँ चल पाया मुझ को
    इतनी जल्दी सांझ हो गई
    दिन बीता सपने सा खाली
    फिर अंधियारी रात हो गई ||"
    sundar panktiyaan....

    जवाब देंहटाएं
  2. दिन बीता सपने सा खाली
    फिर अंधियारी रात हो गई ||very nice.

    जवाब देंहटाएं
  3. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...
    आपके इस सुन्दर प्रविष्टि की चर्चा कल दिनांक 26-03-2012 को सोमवारीय चर्चामंच पर भी होगी। सूचनार्थ

    जवाब देंहटाएं
  4. वाह ...बहुत ही अच्‍छी प्रस्‍तुति।

    जवाब देंहटाएं
  5. दिन बीता सपने सा खाली
    फिर अंधियारी रात हो गई ...बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति..

    जवाब देंहटाएं
  6. आदरणीय श्री डॉ. वेद व्यथित जी
    इस रचना के लिए आभार

    आखों का विश्वाश अगर मैं
    कर भी लूं तो नादानी है
    बिना बताये कहाँ उलझ लें
    वे पीड़ा से अनजानी हैं

    बहुत खूब लिखा है.

    जवाब देंहटाएं
  7. आद.श्री डॉ.वेद व्यथित जी
    आगरा में ताज महोत्सव होने की वजह से ब्लॉग पर नहीं आ सका! इस में मेरा भी स्टोल था!
    " सवाई सिंह "

    जवाब देंहटाएं

एक ब्लॉग सबका में अपने ब्लॉग शामिल करने के लिए आप कमेन्ट के साथ ब्लॉग का यू.आर.एल.{URL} दे सकते !
नोट :- अगर आपका ब्लॉग पहले से ही यहाँ मौजूद है तो दोबारा मुझे अपने ब्लॉग का यू.आर.एल. न भेजें!

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

लिखिए अपनी भाषा में

मेरी ब्लॉग सूची