एक ब्लॉग सबका में आप सभी का हार्दिक सुवागत है!

आप भी इसमें शामिल हो सकते हैं!

यह ब्लॉग समर्पित है "सभी ब्लोग्गर मित्रो को"इस ब्लॉग में आपका स्वागत है और साथ ही इस ब्लॉग में दुसरे रचनाकारों के ब्लॉग से भी रचनाएँ उनकी अनुमति से लेकर यहाँ प्रकाशित की जाएँगी! और मैने सभी ब्लॉगों को एकीकृत करने का ऐसा विचार किया है ताकि आप सभी ब्लोग्गर मित्रो खोजने में सुविधा हो सके!

आप भी इसमें शामिल हो सकते हैं

तो फिर तैयार हो जाईये!

"हमारे किसी भी ब्लॉग पर आपका हमेशा स्वागत है!"



यहाँ प्रतिदिन पधारे

  • आज का सुविचार - ********आज का सुविचार ******** " दरिया ने झरने से पूछा की तुझे समुन्दर नहीं बनना क्या...? झरने ने बड़ी नम्रता से कहा, बड़ा बनकर ...
    5 सप्ताह पहले

रविवार, 1 अप्रैल 2012

श्री राम ...बाल गीत ....डा श्याम गुप्त

धनुष वाण काँधे पर धारे,
मोहक कोमल श्यामल छवि ।
रघुपति राघव नीति विधायक ,
कुल देवता तेजमय रवि ।।

दशरथ नंदन, कौशल्या सुत,
गले में वैजयंती माला ।
जनक नंदिनी के स्वयंबर में,
शिव का धनुष तोड़ डाला ।।

नील कमल सम शोभित लोचन,
रघुकुल तिलक कहे जाते ।
बच्चो! ये भगवान राम हैं,
राजा राम भी कहलाते ।

वन अंचल को दुष्ट जनों से,
निर्भय करने की ठानी ।
वन वन घूमे कष्ट सहे नित,
हार नहीं लेकिन मानी ।

सीता हरण किया रावण ने ,
निज अभिमान दिखाया था ।
कुल के सहित नाश करने हित,
सागर-सेतु बनाया था ।

दक्षिण सागर तट पर शिव का ,
ज्योतिर्लिंग सजाया था ।
इसीलिये वह पावन स्थल,
रामेश्वरम कहाया था ।।




28 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सुन्दर....
    सरल सहज रचना...बच्चों के लिए उपयुक्त.
    रामनवमी की शुभकामनाएँ.
    सादर

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. धन्यवाद एक्सप्रेशन जी...आपके एक्सप्रेशन के लिये आभार .....जय श्री राम.....

      हटाएं
  2. उत्तर
    1. धन्यवाद रीना जी...राम नवमी की शुभ कामनायें

      हटाएं
  3. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...
    आपकी यह प्रविष्टि कल दिनांक 2-04-2012 को सोमवारीय चर्चामंच पर लिंक की जा रही है। सूचनार्थ

    उत्तर देंहटाएं
  4. आत्मा तृप्त हुई ।
    शुभकामनायें ।।
    dineshkidillagi.blogspot.com
    dcgpthravikar.blogspot.com
    neemnimbouri.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. धन्यवाद रविकर....राम स्वयं परम आत्मा हैं....आत्मा तो प्रसन्न होनी ही चाहिये....

      हटाएं
  5. उत्तर
    1. धन्यवाद सवाई सिन्ग जी....आपको भी राम नवमी की शुभ कामनायें..

      हटाएं
  6. रामनवमी की बधाई ,बच्चों के लिए सुंदर व् ज्ञानवर्धक रचना

    उत्तर देंहटाएं
  7. उत्तर
    1. ध्न्यवाद राजेश कुमारी जी.....आपको पसंद आयी...आभार

      हटाएं
  8. सुन्दर गीत है भाई साहब कथात्मक शैली में .

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. धन्यवाद बीरू भाई जी..... कलापक्ष पर टिप्पणी हेतु.... बच्चों के लिये ....मेरे विचार में कथ्यात्मक, अभिधा शैली ही सहज़ सम्प्रेष्य रहती है...आभार...

      हटाएं
  9. बहुत बढ़िया रचना,सुंदर भाव अभिव्यक्ति,बेहतरीन पोस्ट,....

    MY RECENT POST...काव्यान्जलि ...: मै तेरा घर बसाने आई हूँ...

    उत्तर देंहटाएं
  10. सुंदर गीत....
    श्री राम नवमी की सादर बधाईया

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपको भी बधाइयां हबीब जी...

      हबीब = शुद्ध सोने का एक तोले वाला रुपया ..

      हटाएं
  11. वन अंचल को दुष्ट जनों से,
    निर्भय करने की ठानी ।
    वन वन घूमे कष्ट सहे नित,
    हार नहीं लेकिन मानी ।
    new

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. धन्यवाद पन्थी जी ....महाजना: येन गतो स पन्था ..

      हटाएं
  12. धनुष वाण काँधे पर धारे,
    मोहक कोमल श्यामल छवि ।
    रघुपति राघव नीति विधायक ,
    कुल देवता तेजमय रवि ।।

    दशरथ नंदन, कौशल्या सुत,
    गले में वैजयंती माला ।
    जनक नंदिनी के स्वयंबर में,
    शिव का धनुष तोड़ डाला ।।

    बहुत खूब पंक्तियाँ

    उत्तर देंहटाएं

एक ब्लॉग सबका में अपने ब्लॉग शामिल करने के लिए आप कमेन्ट के साथ ब्लॉग का यू.आर.एल.{URL} दे सकते !
नोट :- अगर आपका ब्लॉग पहले से ही यहाँ मौजूद है तो दोबारा मुझे अपने ब्लॉग का यू.आर.एल. न भेजें!

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

लिखिए अपनी भाषा में

मेरी ब्लॉग सूची