एक ब्लॉग सबका में आप सभी का हार्दिक सुवागत है!

आप भी इसमें शामिल हो सकते हैं!

यह ब्लॉग समर्पित है "सभी ब्लोग्गर मित्रो को"इस ब्लॉग में आपका स्वागत है और साथ ही इस ब्लॉग में दुसरे रचनाकारों के ब्लॉग से भी रचनाएँ उनकी अनुमति से लेकर यहाँ प्रकाशित की जाएँगी! और मैने सभी ब्लॉगों को एकीकृत करने का ऐसा विचार किया है ताकि आप सभी ब्लोग्गर मित्रो खोजने में सुविधा हो सके!

आप भी इसमें शामिल हो सकते हैं

तो फिर तैयार हो जाईये!

"हमारे किसी भी ब्लॉग पर आपका हमेशा स्वागत है!"



यहाँ प्रतिदिन पधारे

  • आज का सुविचार - ********आज का सुविचार ******** " दरिया ने झरने से पूछा की तुझे समुन्दर नहीं बनना क्या...? झरने ने बड़ी नम्रता से कहा, बड़ा बनकर ...
    5 सप्ताह पहले

सोमवार, 30 जनवरी 2012

बापू को विनम्र श्रद्धांजलि ..एक ब्लॉग सबका


"मैं कहता हूं कि आप अपनी भाषा में बोलें, अपनी भाषा में लिखें।उनको गरज होगी तो वे हमारी बात सुनेंगे। मैं अपनी बात अपनी भाषा में कहूंगा।जिसको गरज होगी वह सुनेगा। आप इस प्रतिज्ञा के साथ काम करेंगे तो हिंदी भाषा का दर्जा बढ़ेगा!"
*****************
"लोग कहते है साधना आखिर साधन ही है , मैं कहना चाहूँगा साधन ही आखिर में सब कुछ है . जैसे हमारे साधन होंगे वैसा ही हमारा साध्य होगा . साध्य और साधन के दोनों को अलग करने वाली कोई दीवाल नहीं है!"
*************
"यदि भारत के लाखो गावों को जीवित रखना है और यदि उस शांति को प्राप्त करना है जो सारी सभ्यता की बुनियाद में है तो हमें चरखे को सारे हस्त उद्योगों का केंद्र बनाना होगा!"
*************
"बुद्ध ने अपने समस्त भौतिक सुखों का त्याग किया क्योंकि वे संपूर्ण विश्व के साथ यह खुशी बांटना चाहते थे जो मात्र सत्य की खोज में कष्ट भोगने तथा बलिदान देने वालों को ही प्राप्त होती है।"
******
"मैं कायरता तो किसी हाल में सहन नहीं कर सकता! आप कायरता से मरें इसकी बजाये बहादुरी से प्रहार करते हुए और प्रहार सहते हुए मैं कहीं बेहतर समझूंगा"

सभी अनमोल विचार महात्मा गांधी जी

एक ब्लॉग सबका और सुगना फाऊंडेशन मेघलासिया ओर से बापू को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हु !

5 टिप्‍पणियां:

  1. महात्मा गांधी जीको विनम्र श्रद्धांजलि

    उत्तर देंहटाएं
  2. आज पहली बार आपके ब्लॉग पर आई और बहुत अच्छा लगा समर्थक भी बन गई हूँ |बापू को हमारी विनम्र श्रधांजलि |

    उत्तर देंहटाएं
  3. Bapu ke vichar aaj bhi utne hi saarthak hain jitne unke samay mein they. parantu unke vichar ko aaj hum bhool rahe hain jinke karan desh aazad hua. Bapu ke vichar ko hum sabhi se baantne ke liye dhanyawaad.

    उत्तर देंहटाएं

एक ब्लॉग सबका में अपने ब्लॉग शामिल करने के लिए आप कमेन्ट के साथ ब्लॉग का यू.आर.एल.{URL} दे सकते !
नोट :- अगर आपका ब्लॉग पहले से ही यहाँ मौजूद है तो दोबारा मुझे अपने ब्लॉग का यू.आर.एल. न भेजें!

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

लिखिए अपनी भाषा में

मेरी ब्लॉग सूची